मानसून

भारत के मौसम विभाग से मिली सूचना के अनुसार मानसून 2021अब दस्तक दे चुका है।
राजस्थान और उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में हो सकती है बारिश।
साथ ही तेज हवाएं चलने की संभावनाएं है।
देश में 3 जून को मॉनसून का आगमन दक्षिण पश्चिम इलाकों की तरफ हो चुका है।
और अब यह आगे बढ़ रहा है। धीरे-धीरे मॉनसून भारत के उत्तरी राज्यों की तरफ भी पहुंच रहा है।
ऐसे में उत्तरी राज्यों में बारिश की आशंका जताई जा रही है।

उत्तर प्रदेश और राजस्थान पहुंचा मानसून

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) की मानें तो राजस्थान और उत्तर प्रदेश (यूपी) में मानसून दस्तक दे चुका है।
यहां के कई क्षेत्रों में रविवार (6 जून) को तेज हवाएं चलने के साथ बारिश हो सकती है।
आईएमडी ने बताया कि दक्षिण पश्चिम मॉनसून मध्य अरब सागर, कर्नाटक के तटीय क्षेत्रों,
गोवा, महाराष्ट्र के कुछ हिस्से, कर्नाटक के अंदरूनी हिस्से,
तेलंगाना के कुछ हिस्से, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु के कुछ हिस्सों,
मध्य बंगाल की खाड़ी और बंगाल की खाड़ी के पूर्वोत्तर हिस्सों तक पहुंच चुका है। साथ ही अनुमान लगाया जा रहा है,
कि अगले दस दिनों में मॉनसून ओडिशा,झारखंड,
पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों और बिहार में भी पहुंच जाएगा।

मानसून बनने का कारण

बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बन सकता है
आईएमडी का कहना है कि 11 जून तक बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बन सकता है, जिस कारण मॉनसून को बढ़ने में सहयोग मिलेगा।
ऐसे में यह ओडिशा, झारखंड, पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों और बिहार की तरफ पहुंच सकता है।

आईएमडी ने जून में सामान्य बारिश होने का अनुमान जताया है।
वहीं, अगर पूरे देश के मौसम की बात करें तो आईएमडी के अनुसार देशभर में अगले पांच दिनों तक लू चलने की संभावना न के बराबर है।
ऐसे में लोग थोड़ी राहत महसूस कर सकते हैं।
वहीं, नए पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से राजस्थान के अनेक हिस्सों में बूंदाबांदी व बारिश का दौर जारी रह सकता है।
बता दें, राजस्थान में कई जगहों पर पिछले चौबीस घंटे में एक से तीन सेंटीमीटर तक बारिश हुई।

राजस्थान के अनेक इलाकों में बारिश

जयपुर मौसम केंद्र के प्रवक्ता ने बताया है।
कि एक और नए पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से हरियाणा व आसपास के इलाकों में परिसंचरण तंत्र बना हुआ है।
इसके प्रभाव से शनिवार व रविवार 5-6 जून को चूरू, नागौर व हनुमानगढ़,
बीकानेर जिलों में आंधी के साथ अचानक 40 से 45 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से तेज हवाएं चलने,
व बारिश होने की संभावनाएं पाई जा रही हैं।
जबकि भरतपुर, उदयपुर व अजमेर जयपुर,
कोटा,संभाग के ज्यादातर जिलों में आगामी
चार-पांच तक लगातार दिन में दोपहर के बाद और रात में आंधी के साथ हल्की छीटों के साथ मध्यम बारिश होने के भी आसार हैं।

उत्तर प्रदेश में मौसम ने बढाई रंगत

उत्तर प्रदेश उत्तर प्रदेश के भी कुछ जिलों जैसे चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर,
श्रावस्ती, शामली, फतेहपुर, कानपुर, लखनऊ,
बनारस, प्रतापगढ़ आदि अनेक जिलों में बादल के साथ मौसम नम रहने के आसार हैं।

मानसून आने की वजह से
दिन और रात में भी तेज हवाओं के साथ पानी की
बौछारें अग्रिम चार-पांच दिनों तक होते रहने की प्रबल संभावनाएं मौसम विभाग ने जताई है।

संवाददाता पंजीकरण

संवाददाता अधिकार

अपना प्रचार करें