लाकडाउन

केंद्र सरकार ने जारी किया कोरोना के नये लाकडाउन नियम कानून

केंद्र सरकार ने जारी किया नया फरमान और अपने नए आदेश के अंतर्गत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को

कोरोना (covid 19) और लाकडाउन के पूर्व में जारी दिशा-निर्देशों को बढा़ते हुए 30 जून तक हूबहू जारी

रखने का आदेश दिया। और कहा कि भारत में लाकडाउन और कोरोना के चलते नियमों का कडा़ई

से पालन किया जाय।

पूर्वादेश लाकडाउन नियमों को जारी रखने का निर्देश

दिल्ली, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, हरियाणा, मध्यप्रदेश समेत

कई राज्यों में लगे लॉकडाउन और जारी पाबंदियों की वजह से कोरोना के मामलों में लगातार कमी देखने को

मिल रही है। दिल्ली में तो एक सiमय 35 फीसद को पार कर चुका संक्रमण दर अब 2 फीसद से भी नीचे

गिर चुका है। जिसकी वजह से केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोविड-19 के मौजूदा जारी

दिशा-निर्देशों को बढा़कर 30 जून तक जारी रखने का निर्देश दिया।

कोरोना के चलते भारत में लाकडाउन नियमों का कडा़ई से हो पालन

जारी नये आदेश में गृह मंत्रालय की तरफ से कहा गया कि जिन भी जिलों में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या अधिक है, वहां पर गहन एवं स्थानीय स्तर पर नियंत्रण के उपाय किए जाएं। एक नए आदेश में, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा कि नियंत्रण के उपायों को सख्ती से लागू करने से और लाकडाउन के कारण दक्षिण और पूर्वोत्तर के कुछ इलाकों को छोड़कर सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में नए और उपचाराधीन मामलों में गिरावट देखी गई है।

प्रदेश सरकारों को दिया लाकडाउन नियमों में संसोधन करने का अधिकार

भल्ला ने इस बात पर जोर देते हुए बताया कि गिरावट की प्रवृत्ति के बावजूद, वर्तमान में उपचाराधीन मामलों की संख्या अब भी बहुत अधिक हैं। अस्तु यह अहम है कि नियंत्रण के उपायों को सख्ती से लागू रखा जाए। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को जारी अपने आदेश में केंद्रीय गृह सचिव ने कहा कि स्थानीय हालात, जरूरत और स्रोतों का आकलन करने के बाद राज्य सरकारें उचित समय पर चरणबद्ध तरीके से पाबंदियों में किसी तरह की रियायत देने पर विचार कर सकते हैं।क्योंकि लोगों को भारत में लाकडाउन की वजह से तमाम प्रकार की असुविधाओं का सामना भी करना पड़ रहा है।

प्रदेश सरकारें रहें तैयार

केंद्र के अनुसार पूर्व में जारी (29 अप्रैल को ) किए गए दिशा-निर्देश 30 जून तक लागू रहेंगे।भारत में लाकडाउन दिशा-निर्देशों के मुताबिक, गृह मंत्रालय ने राज्यों से कहा कि

अस्पतालों की व्यवस्था में करें सुधार

ऑक्सीजन से लैस बिस्तर, आईसीयू बिस्तर, वेंटिलेटर, एम्बुलेंस की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक कार्रवाई करें और जरूरत पड़ने पर अस्थायी अस्पतालों का निर्माण करें। खतरे से निपटने बावत पहले से ही राज्य और केंद्र सरकारें ब्यवस्थागत तैयारी रखें।

केंद्र सरकार (गृह मंत्रालय) ने कोरोना और ब्लैक फंगस, ह्वाइट फंगस जैसी महामारी के चलते जारी नये दिशा-निर्देशों में देश में कहीं भी भारत में लॉकडाउन लगाने के बारे में कुछ नहीं कहा है। देश में कोरोना वायरस के दैनिक मामलों में कुछ गिरावट और दिल्ली महाराष्ट्र, यूपी समेत देश के कुछ हिस्सों में बिस्तरों, आईसीयू और ऑक्सीजन की उपलब्धता की स्थिति में सुधार के बीच कोरोना प्रबंधन हेतु नये दिशा-निर्देश जारी किए गये हैं ।