कृषि कानून का विरोध और काला दिवस

PicsArt 05 28 07.54.42

किसान आंदोलन के छः माह पश्चात सरकार से नाराज किसानों नें मनाया काला दिवस।और कृषि कानून का विरोध दिखाकर सरकार को संदेश दिया कि कृषि कानून किसी भी परिस्थिति में स्वीकार्य नहीं है।

चित्रकूट में मनाया किसानों ने काला दिवस

भारतीय किसान यूनियन इकाई चित्रकूट केंद्रीय संगठन किसान मोर्चा के आवाहन पर आज बाबा टिकैत के सिपाही जिलाध्यक्ष राम सिंह राही के नेतृत्व पर किसान आंदोलन के छः माह पूरे होने पर कृषि कानूनों के विरोध जताया। नाराज किसानों ने समस्त गावों में गलियों और चौक चौराहों, खेत खलिहानों में चौपाल लगाकर सरकार के प्रति आक्रोष व्यक्त किया। 26 मई को काला दिवस के रूप में किसानों ने अपने घरों पर काले झण्डे लगाकर काली पट्टी बांधकर किसान विरोधी सरकार का विरोध किया साथ ही कुछ गाँवो में कृषि कानून का विरोध जताते हुए प्रतियो को फाड़ कर जय श्री राम के नारे लगाए।

जिलामहामंत्री अरुण कुमार पाण्डेय ने ग्राम सगवारा में किसानों के साथ कृषि क़ानूनों के विरोध में प्रतिया फाडी। और समस्त किसानों ने काली पट्टी बांध कर विरोध प्रदर्शन किया और 26/05/2021 को किसानों का काला दिवस घोषित किया।